श्रीवत्स प्रतीक का उद्भव और विकास

श्रीवत्स प्रतीक का उद्भव और विकास श्रीवत्स भारतीय संस्कृति की प्रतीक परम्परा का अभिन्न अंग है। यह जैन, बौद्ध और वैदिक इन तीनों संस्कृतियों में लोकप्रिय रहा है। विशेष रूप से कलात्मक क्षेत्र में उसका उपयोग हुआ है। प्रारम्भ में यह मांगलिक चिह्न के रूप में प्रयुक्त होता रहा और बाद…